Uttarakhand

केंद्र से बरसती सौगात और पीएम के सानिध्य से बढ़ रहा धामी का कद

धामी अब तक के ऐसे मुख्यमंत्री जिनके कार्यकाल मे राज्य को मिली सर्वाधिक केंद्रीय परियोजनाएं

राज्य के केंद्र से बेहतर रिश्ते बनाने मे भी कामयाब

भाजपा या गैर भाजपा सरकारों के दौर से इतर अब मिल रही तवज्जो बड़ी उपलब्धि

देहरादून। विपक्षियों की राय कुछ भी हो, लेकिन जिस तरह से राज्य पर केंद्र की और से सौग़ातें बरस रही है वह राज्य हित मे सुखद ही कही जायेगी। पुष्कर सिंह धामी राज्य के अब तक एकमात्र ऐसे मुख्यमंत्री साबित हुए है जिनके कार्यकाल मे राज्य को सबसे अधिक केंद्रीय सहायता से विकास की योजनाए मिली। बेशक, उनके कुशल नेतृत्व क्षमता से इन योजनाओं को अमली जामा पहनाने की प्रक्रिया पर काम चल रहा है, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी का मार्गदर्शन भी अधिक अहम है। राज्य मे इस समय डेढ़ लाख करोड़ से अधिक की सड़क, वायु और रेलवे सहित पर्यटन की अनेक योजनाएं चल रही है। प्रधानमंत्री अनेकों बार कह चुके है कि उनका उत्तराखंड से विशेष लगाव है। वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अक्सर इस बात को दोहराते रहे हैं कि मोदी उनके और राज्य के अभिभावक और मार्गदर्शक है। पीएम के मार्गदर्शन मे राज्य आगामी दशक का सर्वश्रेष्ठ राज्य होगा।

जल प्रलय के बाद उजड़े केदारनाथ की जो तस्वीर आज विश्व पटल पर उभरी है उसके पीछे मोदी के अध्यात्मिक स्वरूप और राज्य के प्रति विशेष लगाव ही रहा। हेमकुंड साहिब तक रोप वे लगाने का हो या आल वेदर रोड से आसान सफर अथवा कर्णप्रयाग तक रेल संपर्क इसी काल खंड मे साकार हो पाया। जहाँ तक सीएम की कार्यशैली का सवाल है तो वह केंद्र की अपेक्षाओं पर खरे उतरते दिख रहे हैं। उत्तराखंड के लिए अब केंद्र के द्वार सुलभ हो चुके है। राज्य मे हाइवे से लेकर संचार और मेडिकल सुविधाएं अब आम आदमी की पहुँच मे आसानी से आ रही है। वहीं भ्रष्टाचार के खिलाफ जिस तरह से धामी ताबड़तोड़ बैटिंग कर रहे है उससे एक बात साफ है कि वह दबावमुक्त होकर पारी खेल रहे है। घपले घोटालों के खिलाफ जो कार्यवाही अब तक सामने आयी वह नजीर भी है।

धामी की प्रधानमंत्री मोदी के साथ हुई बैठक भी खासी चर्चाओं मे रही। लंबी बैठक मे राज्य मे चल रही विकास योजनाओं पर विस्तृत चर्चा हुई और सीएम ने बाद मे प्रेस वार्ता मे कुछ मुद्दों को लेकर खुलासा किया। वार्ता के दौरान उन्होंने यह संकेत जरूर दिये कि राज्य को केंद्रीय परियोजनाओं की एक बड़ी खेप मिलने वाली है। हालांकि उनकी पीएम से मुलाकात को मंत्रिमंडल के विस्तार और दायित्व बंटवारे से जोड़कर देखा जा रहा था। राजधानी मे संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री बीएल संतोष द्वारा ली गयी कोर कमेटी की बैठक मे शिरकत के बाद उन्होंने दिल्ली का रुख किया और पीएम के साथ लंबी मैराथन बैठक मे पीएम को विकास योजनाओं की नई सूची थमा दी।

युवा चेहरे के तौर पर हाई कमान की पसंद बने सीएम पुष्कर सिंह धामी का पार्टी मे भी कद बढ़ रहा है। विगत माह पार्टी के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम उन्हे देश के सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री कह चुके है। पार्टी मे अंदरूनी स्थिति जो भी हो, लेकिन पीएम मोदी और केंद्र के साथ वह अल्प समय मे उत्तराखंड के नजदीक रिश्ते स्थापित करने मे कामयाब हुए हैं उससे निश्चित रूप से कहा जा सकता है कि इसका लाभ राज्य को मिल रहा है और भविष्य मे अधिक संभावना है। भाजपा या गैर भाजपा सरकारों मे उत्तराखंड को इस समय जो तवज्जो मिल रही है उसे भी पुष्कर सिंह धामी की एक बड़ी उपलब्धि माना जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk