Uttarakhand

एसडीआरएफ कमान्डेंट ने सिलक्यारा टनल में बचाव कार्य की संभाली कमान

उत्तरकाशी। एसडीआरएफ कमांडेंट मणिकांत मिश्रा ने ब्रह्मखाल- बड़कोट के बीच सुरंग धंसने के कारण जारी राहत एवं बचाव अभियान का निरीक्षण किया। घटनास्थल पर SDRF टीमों को शीघ्रता से राहत एवं बचाव कार्यों को करने हेतु महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिए गए। कमांडेंट ने कहा कि राहत एवं बचाव कार्य और प्रभावी तौर पर किये जा रहे है।

12 नवंबर की सुबह ब्राह्मखाल-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर सिलक्यारा से डंडालगांव तक निर्माणाधीन टनल का एक हिस्सा (सिलक्यारा की तरफ) अचानक टूट गया था। 40 मजदूर अन्दर फंसे होने की आशंका जताई गई थी। घटना की जानकरी मिलते ही पुलिस, एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, फायर, आपातकालीन 108 व निर्माणाधीन टनल में कार्यदायी संस्था की मशीनरी मौके पर पहुंचकर बोरवेलिंग व टनल खुलवाने का कार्य करने में जुट गई थी।

सेनानायक SDRF ने बताया कि SDRF की रेस्क्यू टीमें कल से ही टनल में राहत एवं बचाव कार्यों को समर्पित होकर कर रही है। फंसे हुए लोगों की हर तरीके से सहायता की जा रही है। SDRF टीमें मौके पर कड़ी नजर बनाये हुए है। सुरंग में फंसे लोगों को शीघ्रातिशीघ्र रेस्क्यू करने हेतु रेस्क्यू ऑपरेशन गतिमान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fapjunk