Thursday, February 9, 2023
Home Blog नया वर्ष-नया उत्साह

नया वर्ष-नया उत्साह

अजय दीक्षित
नववर्ष 2023 प्रारम्भ हो गया है।  नया साल नया सबेरा, नया उजाला, नई उम्मीदें, नए लक्ष्य और नई उपलब्धियां लेकर आया है, हम ऐसी मंगल कामना करते हैं। भारत और विश्व के सन्दर्भ में नए साल के कई महत्वपूर्ण मायने हैं। भारत इस पूरे साल के दौरान जी-20 देशों के समूह संगठन का आतिथ्य करेगा। भारत को गुजरते साल में जी- 20 की अध्यक्षता पहली बार सौंपी गई। नए साल में अमरीका, चीन, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी से लेकर इण्डोनेशिया और ब्राजील तक विकसित और विकासशील देशों के राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री शिखर सम्मेलन में एक ही मंच पर एकजुट होंगे । इन देशों के अधिकारी प्रतिनिधि विमर्श कर एजेण्डा तय करेंगे कि आने वाले समय में ‘एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य’ सूत्रवाक्य के सन्दर्भ में जी- 20 देशों की कितनी सार्थक भूमिका हो सकती है ।

विश्व शांति, अर्थव्यवस्था, व्यापार, जलवायु परिवर्तन, खाद्य, ऊर्जा सरीखे विषयों पर एक साझा सोच बनाने के प्रयास किए जाएंगे। यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि 85 फीसदी जीडीपी इन्हीं देशों की है, करीब 75 फीसदी कारोबार यही देश करते हैं और करीब 67 फीसदी आबादी इन्हीं देशों में बसती है। एक तरह से यही देश दुनिया हैं। भारत ऐसे सक्षम देशों के मंच की अध्यक्षता करेगा और बुनियादी एजेण्डा भी शेष सदस्य देशों के सामने प्रस्तुत करेगा, यह उपलब्धि और सम्मान सामान्य नहीं है। 2023 में भारत की जीडीपी 3 ट्रिलियन डॉलर को पार करने की स्थिति में होगी। भारत आज विश्व की तीसरी सबसे बड़ी क्रय- शक्ति वाला देश है और हम विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था तो पहले ही बन चुके हैं ।

नए साल में भारत करीब 143 करोड़ की आबादी वाला देश बनकर प्रथम स्थान पर होगा। चीन दूसरे स्थान पर पिछड़ जाएगा। इसे सकारात्मक और सर्वाधिक युवा कार्यबल वाले देश के तौर पर लें अथवा इतनी आबादी हमारे संसाधनों और भू- क्षेत्रफल पर भारी पड़ेगी, इस सवाल पर चिंतन जारी है, क्योंकि भारत की तुलना में जापान और चीन ‘बूढ़े देश’ हैं। युवा आबादी के कारण भारत दुनिया का सबसे बड़ा सक्रिय बाज़ार भी माना जाता है । हम अंतरिक्ष में नई उड़ानें भरेंगे और नई इबारतें भी लिखेंगे । मंगल और चन्द्रमा पर जाने के हमारे मिशन कितने कामयाब होंगे, यह सवाल भी हम समय और वैज्ञानिकों के प्रयासों पर छोड़ते हैं । वैज्ञानिक अपने प्रयोगों में रात-दिन जुटे हैं । एक त्रासद और वैश्विक मानवीय संकट के तौर पर रूस- यूक्रेन युद्ध का उल्लेख करना भी अनिवार्य है, क्योंकि 24 फरवरी, 2022 से लगातार जारी इस युद्ध ने वैश्विक अर्थव्यवस्था और आपूर्ति चेन को झकझोर कर रख दिया है । हालांकि अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व बैंक ने भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर को करीब 6.5 फीसदी आंकते हुए ‘सर्वोच्च’ करार दिया है, लेकिन इस युद्ध ने करोड़ों लोगों को शरणार्थी, पंगु बना दिया है ।

दुनिया में खाद्य और ऊर्जा के गहरे संकट हैं । यूक्रेन लगभग जर्जर, खंडहर और मलबा हो चुका है । वह नए सिरे से कैसे खड़ा होगा, यह बड़ा पेचीदा सवाल है। हालांकि अब रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने युद्धविराम के बयान देने शुरू कर दिये हैं, लेकिन यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की बातचीत न ‘करने पर अड़े हैं । न जाने उन्हें क्या हासिल दिखाई दे रहा है ? अमरीका और यूरोपीय देशों के हालात यूं ही चरमराते रहे, तो विश्व एक और गहरा आर्थिक संकट झेलने को विवश होगा । इस पूरे परिदृश्य में भारत की भूमिका बेहद महत्वपूर्ण आंकी जा रही है, क्योंकि हमारे प्रधानमंत्री मोदी चौतरफा शांति और स्थिरता के प्रयास कर रहे हैं । दुनिया भारत के आग्रहों को सुनती भी है । 2023 में भारत एकदिनी क्रिकेट के विश्व कप का आयोजन भी कर रहा है और महिला क्रिकेट के विश्व कप में शिरकत करेगा । भारत एकदिनी क्रिकेट का दो बार विश्व चैम्पियन बन चुका है । बैडमिंटन का ऐतिहासिक ‘थॉमस कप खिताब हम पहली बार जीत चुके हैं और हमारे आधा दर्जन से ज्यादा खिलाड़ी विश्व के सर्वोच्च 10 खिलाडियों की जमात में शामिल हुए हैं । भारत कितने स्तरों पर तरक्की करेगा, इसे एक सम्पादकीय में समेटना असंभव है, लेकिन अब भारत ‘विकसित देश’ बनने की ओर अग्रसर है। हालांकि आज भी 25 करोड़ से ज्यादा लोग ‘गरीबी रेखा’ के तले जीने को अभिशप्त हैं, लेकिन भारत में भुखमरी के हालात बिल्कुल नहीं हैं ।

RELATED ARTICLES

भारत में विदेशी शिक्षण संस्थानों की डिग्री

अजय दीक्षित विदेशी विश्वविद्यालयों के लिए भारत में परिसर स्थापित करने की दिशा में कदम उठाते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने इसके लिए नियम...

सरकार में फेरबदल का क्या हुआ?

भाजपा संगठन में जिस तरह फेरबदल की चर्चा थम गई है वैसे ही नरेंद्र मोदी की सरकार में बदलाव और विस्तार की चर्चा भी...

आइडिया चाहिए, एकाउंटिंग नहीं

नई परिस्थितियों में भारतीय अर्थव्यवस्था को कैसी दिशा की जरूरत है, इस सवाल पर चर्चा की जरूरत महसूस की जा रही है। लेकिन इसमें...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

शाहरुख की पठान ने दुनियाभर में पार किया 850 करोड़ का आंकड़ा, केजीएफ 2 को छोड़ा पीछे

शाहरुख खान की फिल्म पठान की बॉक्स ऑफिस पर धुआंधार कमाई जारी है। 4 साल बाद लौटकर बॉक्स ऑफिस पर किंग खान ने जो...

मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सचिवालय में हेलीपोर्ट्स एवं हेलीपैड्स की प्रगति की समीक्षा की

देहरादून। मुख्य सचिव डॉ. एस. एस. संधु ने सचिवालय में हेलीपोर्ट्स एवं हेलीपैड्स की प्रगति की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को सभी हेलीपैड्स...

एक नौकरशाह ऐसा भी, जो स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए नाप रहा पहाड़ की पगडंड़ी

चम्पावत पहुंचे स्वास्थ्य सचिव डा. आर. राजेश कुमार देहरादून। प्रदेश सरकार पर्वतीय जिलों में लचर स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने के लिए लगातार कवायद कर रही है।...

महाराज ने आम बजट को अमृत काल का पहला लोक कल्याणकारी बजट बताया

सामाजिक न्याय, समानता, सम्मान के अलावा समान अवसर उपलब्ध कराने वाला है 2023-24 का बजट उत्तराखंड में रेल सुविधाओं के विकास के लिए 504 करोड...

जिला कार्यसमिति की बैठक में प्रभारी मंत्री रेखा आर्या ने कार्यकर्ताओं में भरा जोश, दिए आगामी चुनावों को लेकर दिशा निर्देश

वर्तमान बजट है सर्वजन हिताय और सर्वजन सुखाय -रेखा आर्या मोदी और धामी के नेतृत्व में प्रदेश का हो रहा चौमुखी विकास-रेखा आर्या केंद्र और राज्य सरकार की...

अडानी ग्रुप के शेयरों में लौटी रौनक, हिंडनबर्ग रिपोर्ट के बाद पहली बार 20 प्रतिशत तक चढ़ गए भाव

नई दिल्ली। अडानी ग्रुप के शेयरों में मंगलवार को रौनक लौट आई। ग्रुप की 10 लिस्टेड कंपनियों में से 8 में बढ़त के साथ कारोबार...

मुख्य सचिव एसएस संधु ने नैनी सैनी एयरपोर्ट एवं पिथौरागढ़ स्थित बेस चिकित्सालय भवन का किया स्थलीय निरीक्षण

पिथोरागढ़।  मुख्य सचिव ने सर्वप्रथम नैनी सैनी एयरपोर्ट का स्थलीय निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान जिलाधिकारी द्वारा नैनी सैनी हवाई पट्टी के...

तुर्की में आज फिर भूकंप, मरने वालों की संख्या 4000 के पार, हर तरफ तबाही ही तबाही

इस्तांबुल। तुर्की में आज फिर से भूकंप के झटके लगे हैं। यह भूकंप सेंट्रल तुर्की में आया है जहां उसकी तीव्रता 5.6 रही। वहीं तुर्की-सीरिया...

कैसे हर कारोबार में सफल हो जाते हैं गौतम अडाणी? लोकसभा में राहुल ने केंद्र पर जमकर साधा निशाना

नई दिल्ली। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान लोक सभा में विपक्ष की तरफ से पहले वक्ता के तौर पर बोलते...

बहती नाक से पीडि़त हैं तो अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्खे, जल्द मिलेगा आराम

बहती नाक से पीडि़त हैं तो अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्खे, जल्द मिलेगा आराम इस बदलते मौसम में तापमान और नमी में बदलाव के कारण...